दूल्हा निकला ठग, अब तक 100 दुल्हनें खा चुकी हैं धोखा!


मैरिज साइट्स पर शादी-विवाह के लिए निर्भरता इधर काफी बढ़ी है. वजह साफ है बदलते जीवनशैली में लोगों के पास समय नहीं है अथवा परिवारिक पसंद से इतर अधिकतर लोग अब अपना पार्टनर खुद चुनने में यकीन करने लगे है. मौजूदा वक्त में खासकर शहरी परिवेश में लड़के और लड़कियों की शादी  30 से 35 की उम्र तक होती है. शायद यही कारण है कि मैरिज साइट्स पर अब पार्टनर चुनने का प्रचलन तेजी से बढ़ा है. लेकिन सावधान रहिए, क्योंकि कर्नाटक की राजधानी बंगलुरु सिटी में एक ऐसा कॉनमैन (ठग) हाथ लगा है जो मैरिज साइट्स के जरिए अब तक कुल 100 लड़कियों को चूना लगा चुका है.

10 वर्ष में 100 महिलाओं को ठगा
दक्षिणी राज्य कर्नाटक में अब तक 100 महिलाओं को शादी का झांसा देकर ठगी कर चुका ठग सादत मुश्ताक खान की गिरफ्तारी उत्तरी-पूर्व बंगलुरु में रहने वाली एक पीड़िता के शिकायत के बाद हुई. इस ठग की ताजा शिकार हुई पीड़िता ने बगालुर के निकट यलाहंका थाने में सादत के खिलाफ शादी का झांसा देने और बलात्कार करने की शिकायत दर्ज कराई  थी.

 

अगर हम सादत मुश्ताक खान के दिए बयान पर भरोसा करें तो वह अब तक 75 से 100 महिलाओं को अपना शिकार बना चुका है. मेरी सभी पीड़ितों से विनम्र अनुरोध है कि वो सभी पीड़ित आगे आएं और अपने साथ हुए ठगी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं.

 

 -पी एस हर्षा, डीसीपी, नॉर्थ-ईस्ट बंगलुरु

18 वर्ष की उम्र में शुरु कर दी थी ठगी
वर्ष 2007 में 18 वर्ष की उम्र से ही कॉनमैन सादत मुश्ताक खान ने महिलाओं के साथ ठगी की शुरूआत कर दी थी. इसके लिए शातिर सादत ने मैरिज साइट्स को चुना. वह तमाम मैरिज साइट्स पर बनाए अपनी प्रोफाइल पर कभी खुद को बिजनेस मैन, कभी बड़े उद्योगपति का बेटा, कभी मल्टीनेशनल कंपनी का सीईओ, कभी सरकारी नौकर तो कभी सिविल सेवा में प्रयासरत छात्र बतलाता था.

पहली मुलाकात में जीत लेता था भरोसा
पुलिस के मुताबिक अच्छे नैन-नक्स के कारण सादत खान मैरिज साइट्स के बाद होने वाली पहली मुलाकात में ही लड़कियों को जल्द पसंद आ जाता था और ठगने से पहले हर लड़की से शादी का वादा करता था और कई मुलाकातों के बाद जब लड़की का भरोसा कॉनमैन पर बढ़ जाता तो मौका देखकर सादत खान झूठी जरुरत बतलाकर लड़कियों से मिले कैश, ज्वैलरी लेकर फरार हो जाता था.

विधवा, तलाकशुदा को बनाता था शिकार
बंगलुरु पुलिस की गिरफ्त में आ चुका कॉनमैन सादत खान मैरिज साइट्स पर अक्सर विधवा, तलाकशुदा और पति से अलग रह रहीं महिलाओं को ही निशाना बनाता था. मैरिज साइट्स पर ऐसी महिलाएं का शिकार करना ज्यादा आसान इसलिए भी था, क्योंकि ऐसी महिलाएं अक्सर संजीदा और पैसे से मजबूत प्रोफाइल वाले लोगों में ही रुचि दिखाती हैं.

यौन उत्पीड़न की शिकार भी हुईं लड़कियां
ठग सादत खान हर बार अलग-अलग नामों से मैरिज साइट्स पर अपनी प्रोफाइल बनाता था और महिलाओं की प्रोफाइल के मुताबिक अपनी प्रोफाइल में कभी तकनीशियन तो कभी बिजनेसमैन बन जाता था. इससे समान फील्ड में काम करने वाली महिलाएं व लड़कियां जल्दी सादत के चक्कर में आ जाती थीं. पिछले 10 वर्षो में ठगी की शिकार हुई 100 महिलाओं से अधिकतर के साथ ठगी के अलावा सादत ने उनका यौन उत्पीड़न भी किया है.

रेप की शिकायत से गिरफ्तार हुआ कॉनमैन
नॉर्थ-ईस्ट बंगलुरु के निकट बागालुर की रहने वाली पीड़िता ने यलाहंका पुलिस थाने में दर्ज शिकायत में ठग सादत खान के खिलाफ बलात्कार की शिकायत दर्ज की थी. इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने सादत के खिलाफ छानबीन शुरू की और जल्द ही उसकी गिरफ्तारी हो गई. थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक सादत खान ने मैरिज साइट्स के जरिए ही पीड़िता से संपर्क किया था और शादी का झांसा सब्जबाग दिखाकर उसके साथ रेप किया.

ठगी के बाद करता था अगली ठगी की तैयारी
पिछले 10 वर्ष से ठगी कर रहा सादत खान इतना शातिर और पेशेवर ठग में तब्दील हो चुका था कि एक के बाद एक लड़की को शिकार बनाने लग गया. मसलन, एक लड़की से ठगी के बाद मिले कैश, ज्वैलरी का इस्तेमाल वह दूसरी लड़की को ठगने में निवेश कर देता था. क्योंकि शिकार का भरोसा जीतने के लिए वह पिछले ठग हासिल हुआ पैसा और वक्त दोनों को खर्चने में बिल्कुल कंजूसी नहीं करता था और भरोसा जीतते ही चूना लगाकर फिर अगले शिकार पर निकल पड़ता था.

ठग शिकार पर करता था शाहखर्च
पिछले 10 वर्षों में पेशेवर ठग बन चुका सादत खान ठगी से पहले महिलाओं को शॉपिंग मॉल्स, फाइव स्टार होटल्स और मंहगे रिशॉर्ट्स में ले जाता है ताकि उनका भरोसा आसानी से जीत सके. पुलिस के मुताबिक सादत खान इतना बड़ा शातिर था कि अपनी पहचान को छिपाने के लिए वह हमेशा नई जगह पर जाता था. यानी वह उन होटलों, मॉल्स और शॉपिंग सेंटरों पर दोबारा कभी नहीं जाता था, जहां वह पहले कभी किसी के साथ जा चुका था अथवा किसी को पहले वहां ले जा चुका हो.

Leave a Reply