फर्जी प्रमाण पत्र लगा बन गया प्रवक्ता, मा0शि0सेवा चयन बोर्ड का है मामला नही हो रहा जांच का आदेश

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड की पूर्व सचिव का है हाथ

नेत्रहीन दिव्यांग का है मामला 

जस्ट एक्शन न्यूज़ /इलाहाबाद :माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड पीजीटी वि0स0 2/2013 में हुए प्रवक्ता हिन्दी चयन में फर्जी एम0एड  मार्कसीट व सन्दीग्ध विकलांग प्रमाण पत्र 40प्रतिशत के सहारे पैनल जारी कर नियुक्ति दिलाने का मामला सामने आया  है , बताते चले कि  प्रवक्ता हिन्दी में विकलांगो के चार पद आरक्षित थे जिसमे एक पद मुकबधिर , एक पद  चलन क्रिया तथा दो पद नेत्रहीन अभ्यर्थियो के लिए था जिसमे दिनांक 23/11/2016 को श्रेणीवार चयनित अभ्यर्थियो का पैनल जारी कर दिया गया लेकिन आरोप है कि पुर्व सचिव के खास का चयन  कम मेरीट होने के कारण नही हो पाया जिसके कारण यह कह कर की “”इस सम्बंध में कतिपय अभ्यर्थियो का प्रत्यावेदन प्राप्त हुआ जिसके परीक्षणो परांत यह तथ्य सामने आया कि कतिपय अभ्यर्थियो को उनके मेरीट के अनुसार संस्था आवंटित नहीं की गयी थी जो त्रुटीपूर्ण था अतएव उनके प्रत्यावेदन के सम्यक विचारोपरांत संसोधित पैनल निम्नवत निर्गत किया जाता है:‌-द्वितिय संसोधन लिस्ट देखने के लिए क्लीक करे

के सहारे फर्जी प्रमाण पत्रो को लगा कर मेरीट में छेड्छाड कर सचिव बोर्ड व सदस्यो द्वारा कम मेरीट वाले अभ्यर्थी मेरीट बढाने के फर्जी प्रमाणपत्रो का सहारा लिया गया और पात्र अभ्यर्थी राधेश्याम नेत्रहीन 100 प्रतिशत को चयन सूची से बाहर कर 40 प्रतिशत नेत्रहीन रविशंकर सिह का चयन कर पैनल जारी कर दिया गया |

फिर कई बार विभागो मे शिकायत करने तथा हाईकोर्ट का सहारा लेने पर पुन:  राधेश्याम का चयन अन्य कालेज जनता इण्टर कालेज कैल्ठा अलीगंज एटा कर दिया गया तथा आरोप है कि अभ्यर्थी को जो कालेज आंवटीत किया गया वहा पहले ही अन्य अभ्यर्थी कार्यभार ग्रहण कर चुका था जिसके फलस्वरुप कोर्ट से यथस्थित का आदेश ले लिया लेकिन फिर एक नयी चाल सचिव द्वारा चला गया और रविशंकर सिह को भइया हरिभान दत्त इण्टर कालेज धानेपुर गोण्डा में नियुक्ति पत्र सहित कार्यभार ग्रहण करा दिया गया | और सही दिव्यांग दर दर ठोकरे खा रहा |   तृतीय संसोधन पैनल देखे

 

Leave a Reply