पेड़ पौधों को चरने के जुर्म में दो घोड़ों और दो गघों के गिरफ्तार कर तीन दिन तक रखा जेल में

जालौन: दुनिया में हर रोज अजीबो-गरीब घटनाएं घटती हैं, जिन्हें आप देखते या सुनते होंगे. कई ऐसी घटनाएं भी घटती हैं, जो सोचने पर मजबूर कर देती हैं कि क्या सचमुच ऐसा हो सकता है. आपने इंसानों को जेल से छूटकर निकलते हुए जरूर देखा या सुना होगा. लेकिन आपने गधों और घोड़ों को जेल से छूटते हुए नहीं देखा होगा. ऐसी ही एक घटना उत्तर प्रदेश के जालौन में घटी है है. इस घटना के बारे में जिसने भी सुना उसे यकीन नहीं हुआ, लेकिन सच से ऐसा हुआ है. दरअसल, यहां कारागार परिसर में लगाए गए पेड़ पौधों को चरने के जुर्म में दो घोड़ों और दो गघों के गिरफ्तार कर तीन दिन तक जेल में बंद रखा गया.
जिला जेल के अधीक्षक ने कारागार परिसर में साज-सज्जा के लिये लगाये गये पेड़-पौधो को चरने को लेकर दो घोड़ों और दो गधों को तीन दिन तक जेल में बंद रखा. उनके मालिक के आने पर सोमवार शाम उन्हें छोड़ दिया गया. इस संबंध में जेल अधीक्षक तुलसी राम शर्मा ने दावा किया, ‘‘जेल के सौंदर्यीकरण के लिये कई तरह के पेड़-पौधे परिसर में लगाये गये हैं. लेकिन इन घोड़ों और गधों ने उन्हें नुकसान पहुंचाया, तो मैंने इन्हें जेल में बंद कर दिया.’’

Leave a Reply