सेवा संकल्प  ने दिव्यांग छात्रों के  चेहरों  पर बिखेरी मुस्कान

आगरा ,
कुदरत ने बनाई उनको आंखों में रोशनी नहीं दी लेकिन वह भगवान की बनाई इस खूबसूरत दुनिया को सिर्फ महसूस ही नहीं करते बल्कि अपने हुनर और जज्बे से लोगों को यह एहसास कराते हैं कि हम भी किसी से कम नहीं बात संगीत की हो या फिर कारीगरी की हर फन में माहिर नेत्रहीन विद्यालय सूर कुटी के दिव्यांग छात्रों से सेवा संकल्प  कार्यक्रम के दौरान रूबरू होने वाला हर शख्स हैरान था नेत्रहीन विद्यालय शिवकुटी के दिव्यांग छात्रों ने सूरदास  के भजन गाकर नेत्रहीन छात्रों ने मन मोह लिया इस आयोजन के जरिए लोगों को एक चलो प्रयास करें अपनों को दुलार करें का संदेश दिया गया कार्यक्रम में मौजूद संस्था के पदाधिकारी एवं अतिथियों ने सेवा भावना विषय पर चर्चा करते हुए अपने अपने विचार रखें यशवंत हॉस्पिटल के वाइस चेयरमैन डॉ सुरेंद्र सिंह भगोर ने कहा कि हम यशवंत हॉस्पिटल की ओर से निशुल्क स्वास्थ्य शिविर और  डॉक्टरों को बुलवाकर निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं भी देने का आश्वासन दिया कैंप लगाकर दिव्यांग छात्रों के स्वास्थ्य संबंधी जांच की जाएगी वाइस चेयरमैन मुकुल जैन ने कहा कि इस सेवा कार्य में सेवा के लिए पात्र का चयन भी महत्वपूर्ण है नेत्रहीन विद्यालय के छात्र निश्चित रूप से इसके पात्र हैं सेक्रेटरी अजय शर्मा ने कहा कि हिंदू कैलेंडर के अनुसार नव वर्ष के आरंभ के शुभ मौके पर यह आयोजन किया जा रहा है इसका उद्देश्य लोगों में जरूरतमंदों की मदद की भावना पैदा करना है इसी क्रम में इनक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन के चेयरमैन पूर्ण डाबर मोहित जैन राजेश मंगल प्रकाश मोटर्स के चेयरमैन नवनीत बुधाराम ऑटो एंटरप्राइजेज के अनिल दुबे वाला लघु उद्योग भारती के मंडल अध्यक्ष राजीव बंसल सचदेवा मिलेनियम स्कूल के वाइस चेयरमैन पुलकित सचदेवा प्रेसिडेंट मधुसूदन भट्ट इवेंट कॉर्डिनेटर बजे शर्मा श्रीमती उत्तरा देवी चैरिटेबल ट्रस्ट के अभय गुप्ता यदि अपने अपने विचार रखे कार्यक्रम का संचालन रवि इवेंट्स के मनीष अग्रवाल ने किया इसके बाद सभी छात्रों और नितिन विद्यालय के छात्रों को उनके दैनिक उपयोग की वस्तुएं प्रदान की गई जिनमें तो लिए चादरें बाल्टी मग साबुन सर्फ दूध बेस्ट हेयर आयल चप्पल एवं खाने पीने की चीजें शामिल रही इस मौके पर राय एकेडमी के राजीव यादव  . मधुकर अरोरा राम शर्मा अमित चौधरी चौधरी उदयवीर सिंह ग्रोवर राम नरेश वर्मा कुलदीप पाठक आदि  रूप मौजूद रहे।

Leave a Reply