कश्मीर में एक तरफ़ा संघर्ष विराम की घोषणा पर राष्ट्रीय हिन्दू सेना का कड़ा विरोध व निन्दा

पंजाब पठानकोट चीफ ब्यूरो आलोक कुमार :- अखिल भारतीय राष्ट्रीय हिन्दू सेना संगठन ( रजि) की बैठक संस्थापक अध्यक्ष रजनीश कालू की अध्यक्षता में हुई l बैठक संबंधी जानकारी देते हुए संस्थापक अध्यक्ष रजनीश कालू ने बताया की कल केंद्र सरकार ( मोदी सरकार ) ने जो जम्मू व कश्मीर की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती के कहने पर कश्मीर में एकतरफ़ा संघर्ष विराम की घोषणा की है राष्ट्रीय हिन्दू सेना उसका कड़ा विरोध कर निन्दा करती है l उन्होंने कहा पहले भाजपा ने आंतकवाद समर्थित पीडीपी से गठबंधन कर बहुत बड़ी गलती की थी ओर अब घाटी में एक तरफ़ा संघर्ष विराम कर सेना के हाथ बांध कर l अध्यक्ष रजनीश कालू ने कहा की मोदी सरकार को यह नही बुलना चाहिए की यही पीडीपी वाले संसद पर हमला करने वाले आंतकी अफ़जल गुरु को आंतकी नही शहीद मानती है ओर यह नही चाहती की सेना कश्मीर में आंतकियों का खात्मा करे l उन्होंने कहा की भारतीय सेना व केंद्रीय सुरक्षा बालों के जवानों ने ऑपरेशन ऑल आऊट चला कईं खूंखार आंतकियों को मार गिराया है जिस से आंतकियों में ख़ौफ़ छाया हुया है l अब मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती रमजान की आड़ में आंतकियों ओर पाकिस्तान समर्थक अलगाववादियों को बचाने की कोशिश कर रही है l उन्होंने कहा की एक तरफ़ कश्मीर में अब बर्फ़ पिघलनी शुरू हुई है जिस का आंतकियों को  घुसपैठ करने का इंतज़ार रहता है l एक तरफ़ संघर्ष विराम की घोषणा होती है उसके एक घण्टे बाद आंतकी कश्मीर में पाँच आंतकी हमलों को अंजाम दे देते हैं l जिस से साबित होता है की आंतकियों को ओर ज्यादा हमले करने का मौका मिल गया है l उन्होंने कहा की मोदी ने एक तरफ़ा संघर्ष विराम की घोषणा कर सेना व सुरक्षा बलों के मनोबल को गिराया है जो की देश की सुरक्षा से खिलबाड़ है l क्या हमारे सुरक्षा बलों की जान की कोई कीमत नही ऐसे फैसले से सेना ओर सुरक्षा बलों को ग़लत संदेश जायेगा l अध्यक्ष रजनीश कालू ने कहा की राष्ट्रीय हिन्दू सेना केंद्र की मोदी सरकार से उसके फैसले पर फिर से विचार करने के साथ एक तरफ़ा संघर्ष विराम के फैसले को  रद्द करने की माँग करती है l इस अवसर पर नवजोत सिंह, प्रेम प्रकाश बिट्टू, विनोद हैप्पी, राकेश काका, सन्नी कुमार, रजत कुमार, आकाश मेहरा, प्रवीण कालू ,श्रवण कुमार  आदि उपस्थित थे l

Leave a Reply