एक जवान की निर्जलीकरण के कारण मौत

सतना/भिण्‍ड (मध्‍यप्रदेश), (भाषा) सतना जिले में चित्रकूट के जंगल में डकैतों के तलाशी अभियान में गये विशेष सशस्त्र बल (एसएएफ) के एक जवान की कथित रूप से गर्मी एवं शरीर में पानी की कमी (निर्जलीकरण) के कारण मौत हो गई।

रीवा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) उमेश जोगा ने आज बताया, ‘‘रविवार देर शाम चरवाहों की सूचना पर बटोही के जंगल से एसएएफ जवान एस शर्मा (48) का शव बरामद हुआ है। वह शुक्रवार को चित्रकूट के जंगल में डकैतों के तलाशी अभियान में पुलिस दल के साथ गया था और करीब 48 घण्टे से लापता था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘चित्रकूट जंगलों में डकैतों के सर्चिंग ऑपरेशन के लिए एसएएफ और पुलिस टीम गई थी। ये टीम जंगलों में डकैत बबली कोल की तलाश में जंगल में उतरी थी। टीम में एसएएफ जवान शर्मा भी दस्यु प्रभावित इलाके थरपहाड गये थे। अभियान से लौटते समय तीन जवानों शर्मा, शिवमोहन और अशोक की गर्मी और प्यास से तबीयत बिगड़ गई। तीनों जवानों को एक पेड़ के नीचे छोड़कर बाकी टीम पानी लेने के लिए आगे आ गई। टीम बगधरा पोस्ट पर वापस आ गई।’’ जोगा ने बताया कि कुछ देर बाद दो जवान शिवमोहन और अशोक वापस आ गए लेकिन शर्मा वापस नहीं लौटे। उन्हें खोजने के लिए टीम फिर मौके पर गयी लेकिन वह नहीं मिले। इसकी सूचना पुलिस को दी गई।’’ उन्होंने कहा कि सतना पुलिस अधीक्षक पुलिस बल के साथ बगधरा पोस्ट पहुंचे और लापता जवान की तलाश शुरू की। दो दिन तक खोजबीन किये जाने के बाद भी जवान का सुराग नहीं मिला। रविवार देर शाम चरवाहों की सूचना पर बटोही के जंगल से उनका शव बरामद किया गया।

जोगा ने बताया, ‘‘हम सदमे में हैं। जवान के मौत की असली वजह क्या है, इसकी जानकारी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगी।’’ उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों के सुपुर्द कर भिंड के लिए रवाना कर दिया गया।

इसी बीच, भिण्ड से मिली रिपोर्ट के अनुसार एसएएफ के 14वीं बटालियन में पदस्थ शर्मा का शव आज भिंड जिले के रौन पुलिस स्टेशन के क्षेत्रान्तर्गत ग्राम बोहरा पहुंचा, जहां उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उसके अंतिम संस्कार में भिंड जिले के पुलिस अधीक्षक रुडोल्फ अल्वारेस एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह शामिल हुए।

अल्वारेस एवं सिंह ने ‘भाषा’ को बताया कि शर्मा के पुत्र देवेश शर्मा (26) को मध्यप्रदेश पुलिस में नियुक्ति दी जाएगी।

Leave a Reply