जिलाधिकारी मेला क्षेत्र का किया भ्रमण स्नानार्थियों से से जाना हाल

75 लाख़ श्रद्धालुओं ने संगम में लगाई आस्था की डूबकी

इलाहाबाद । माघ मेला का चतुर्थ मुख्य स्नान पर्व बसंत पंचमी सकुशल एवं निर्विध्न रूप से सम्पन्न हुआ। बसंत पंचमी के पावन पर्व पर 75 लाख श्रद्धालुओं ने संगम में डूबकी लगाई। बुधवार केा भोर में संगम क्षेत्र में घना कोहरा हो गया था। उसके बावजूद भी श्रद्धालुओं के उत्साह में कोई कमी नही हुई। श्रद्धालुओं का जन सैलाब स्नान के लिये उमड़ पड़ा। जनपदवासियों के अलावा देश के तमाम राज्यों और शहरों से भी बसंत पंचमी पर्व पर संगम में स्नान के लिए श्रद्धालु आये। प्रशासन द्वारा 18 घाटों पर स्नान हेतु साफ-सफाई सहित सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम किया गया था। प्रत्येक घाट पर सफाई कर्मी तैनात थे जो जाल द्वारा जल में प्रवाहित किये गये माला-फूल तथा नारियल को हटाते रहे। इसके साथ ही घाटों पर लगी बोरियों की भी सफाई बराबर होती रहीे। प्रत्येक घाटों पर कांसा पूरी तरह बिछा हुआ था जिसका श्रद्धालुओं ने भरपूर लाभ लिया। मंगलवार से ही जिलाधिकारी संजय कुमार स्नान को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए माघ मेला मंे डंट गये तथा देर रात्रि तक सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों के साथ माघ मेला के प्रत्येक सेक्टर तथा घाट का स्थलीय निरीक्षण कर तैयारियों को देखे तथा आवश्यक निर्देश दिये। रिपोर्ट लिखने तक (सायं 6.00 बजे तक) लगभग 75 लाख स्नानार्थियों/श्रद्धालुओं ने पवित्र गंगा-यमुना एवं अदृश्य सरस्वती के संगम तट तथा गंगा जी के अन्य तटों पर स्नान कर पुण्य लाभ अर्जित किये।
मण्डलायुक्त राजन शुक्ला, जिलाधिकारी संजय कुमार तथा एसएसपी शलभ माथुर स्नान के दौरान घाटों पर भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे। जिलाधिकारी बीच-बीच में घाटों पर जाकर स्नानार्थियों से बातचीत कर व्यवस्थाओं के बारे में सूचनायें प्राप्त करते रहे। जिलाधिकारी वायरलेस सेट से लगातार सम्पर्क बनाये रखे।
मेले में शान्ति एवं सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत आर0ए0एफ0 का माउन्टेन सर्विलांस व्हीकल मेले में दौड़ता रहा। आरएएफ के कमांडेंट दिनेश सिंह चंदेल पूरे मेले में पैदल चलकर जवानों का हौसला बढ़ाते रहे। मेले की गतिविधियों को कैमरे के माध्यम से लाइव कंट्रोल रूप से देखा जा रहा था। इसके अलावा सीसीटीवी तथा ड्रोन कैमरे से भी मेले पर नजर रखी गई। स्नान घाटों पर आरएएफ, पीएसी तथा पुलिस के जवान तैनात रहे इसके अलावा लोगों की मदद के लिए सीविल डिफेंस के लोग भी तैनात थे। सिविल डिफेंस के वाॅलन्टीयर घाटों पर तैनात थे जो सफाई तथा बिछड़े लोगों को संगम टाॅवर तक पहंुचाने में भी सहयोग कर रहे थे। सिविल डिफंेस द्वारा भूले बिछड़े लोगों को वस्त्र दिया गया।
बसन्त पंचमी स्नान पर्व मेला क्षेत्र में 5785 भूले भटके महिला/पुरूष व 18 बच्चांेें को उनके स्वजन से मिलाया गया। मण्डलायुक्त राजन शुक्ला, जिलाधिकारी संजय कुमार, कमांडेंट आरएएफ दिनेश सिंह चंदेल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री शलभ माथुर, अपर जिलाधिकारी नगर पुनीत शुक्ल, प्रभारी अधिकारी माघ मेला आशीष कुमार मिश्र, पुलिस अधीक्षक, माघ मेला, प्रभारी पुलिस अधिकारी, माघ मेला व अन्य मजिस्टेªट व पुलिस अधिकारीगण मेला क्षेत्र का भ्रमण कर शान्ति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखते हुए स्नान घाटों पर सतत् निगाह रखे रहे। जिलाधिकारी इलाहाबाद द्वारा सकुशल स्नान पर्व सम्पन्न करने में किये गये सहयोग पर आर्मी, आर0ए0एफ0, पुुलिस प्रशासन, नागरिक सुरक्षा एवं सभी कार्यदायी विभागों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आगामी स्नान पर्वों पर भी इसी तरह तत्परता एवं निष्ठापूर्वक कार्य करने हेतु निर्देश दिये गये। बसंत पंचमी स्नान पर्व को सकुशल एवं निर्विध्न सम्पन्न कराने में प्रेस प्रतिनिधियों, कल्पवासियों, प्रयागवाल, साधु-सन्तों एवं स्नानार्थियों का भी सहयोग रहा, जिसके लिए जिलाधिकारी ने सभी को धन्यवाद दिया

Leave a Reply