चूरन से नौनिहालों की मौत का असली जिम्मेदारी कौन ?

जौनपुर। सरपतहां थाना क्षेत्र के भैसौली गांव में चूरन खाने से दो बच्चों की मौत हो गई जबकि एक महिला समेत छ बच्चों की हालत गंभीर है जिनका इलाज सुल्तानपुर के निजी अस्पताल में चल रहा है। मौत की सूचना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। परिजनों द्वारा दी गयी तहरीर के आधार पर प्रभारी निरीक्षक रीतेन्द्र प्रताप सिंह तत्काल वहां पहुंच गए और शीर्ष अधिकारियों को घटना के सन्दर्भ में अवगत कराते हुए जांच पड़ताल शुरू कर दिए। प्रकरण में पुलिस ने पीड़ित परिजनों की तहरीर पर भारतीय दंड संहिता की धारा 328, 304 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया है। इधर एक हीं परिवार के दो नौनिहालों की मौत से पूरा गांव स्तब्ध है। खाद्य सुरक्षा के प्रति सरकार की उदासीनता और प्रशासन की नाकामी से दो बच्चे काल कवलित हो गये। आखिर सुनहले पैकेट में बजरंगी भाई जान के रूप में खुले आम बेची जा रही मौत का जिम्मेदार कौन है? यह सवाल सभी के अन्तर्मन में पैदा हो रहा कि प्रशासन इन बच्चों की मौत के असली सौदागर तक पहुंच पाता है कि बेगुनाह लोगों पर मुकदमा लादकर स्वयं ही अपनी पीठ थपथपा लेता है।

Leave a Reply